अडाणी ग्रुप : NDTV में Adani Group की हिस्सेदारी के बाद क्या रवीश कुमार इस्तीफा देंगे ?

जैसे ही NDTV में Adani Group की हिस्सेदारी की खबर मीडिया इंड्रस्ट्रीज में आयी तब से रवीश कुमार के इस्तीफा देने के कयास लगाए जाने लगे है । लेकिन रवीश कुमार जितने अपने बेबाक अन्दाज के लिए जाने जाते है उससे ज्यादा वे अपने फेसबुक ब्लॉग लिखने के अंदाज के लिए भी और उन्होंने इसी अंदाज में इन कयासों का खंडन किया है। अडाणी ग्रुप के हिस्सेदारी लेने के बाद से ही कयासों का दौर तेज है।

मीडिया समूह एनडीटीवी में अडाणी ग्रुप ने 29 फीसदी की हिस्सेदारी खरीद ली है। ये खबर सेबी और शेयर मार्किट से पता चली है। इसके बाद से ही चर्चाओं का बाजार गर्म है। लोग यह तक कह रहे है कि कंपनी पर अडाणी ग्रुप की पकड़ मजबूत होने के चलते मशहूर एंकर रवीश कुमार टीवी चैनल से इस्तीफा भी दे सकते हैं या उनको निकाला भी जासकता है। इस बीच खुद रवीश कुमार ने अपने अंदाज में इन कयासों पर जवाब दिया। रवीश कुमार ने लिखा, ‘माननीय जनता, मेरे इस्तीफ़े की बात ठीक उसी तरह अफ़वाह है, जैसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुझे इंटरव्यू देने के लिए तैयार हो गए हैं और अक्षय कुमार बंबइया आम लेकर गेट पर मेरा इंतज़ार कर रहे हैं।’

और तो और रवीश कुमार ने खुद को दुनिया का पहला और सबसे महंगा जीरो टीआरपी एंकर भी बताया है।

रवीश कुमार के भविष्य को लेकर लग रहे कयासों के बीच र यह रिएक्शन आया है, जो अहम माना जा रहा है। उनके बयान से यह साफ है कि फिलहाल रवीश कुमार एनडीटीवी में ही रहेंगे। एनडीटीवी में अडाणी ग्रुप की हिस्सेदारी की खबरों के बाद से ही सोशल मीडिया पर तरह तरह से मीम्स भी बनाके शेयर किये जा रहे है।

एनडीटीवी के शेयरों में बड़ा उछाल दर्ज किया गया है| फिलहाल यह 388 रुपये पर कारोबार कर रहा है। एनडीटीवी के शेयरों में इस साल 300 फीसदी से ज्यादा का उछाल देखने को मिला है।

रवीश कुमार की फैन फॉलोविंग जबरजस्त है इसी को लेकर एक वर्ग ऐसा भी है जो इन्हे सरकार विरोधी भी मानते है। इसी वजह से जितने भी लोग मोदी समर्थक है वे इन्हे पसंद नहीं करते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Choose Language